Hanuman ji Upay: हनुमान जी को सिंदूर कैसे चढ़ाएं, बनते हैं कई काम, जानिए क्यों चढ़ता है सिंदूर

hanuman ji ko sindoor chadhane ke fayde: हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाने के फायदे हर उन लोगो को है जिनके काम नहीं बन रहे है.हिंदू धर्म में हनुमान जी को देवता के रूप में माना जाता है, जिसके लिए एक विशेष दिन समर्पित है। मान्यता के अनुसार, मंगलवार को हनुमान जी की कृपा प्राप्त करने का सर्वोत्तम मौका है। हनुमान जी की कृपा से व्यक्ति सभी संकटों से मुक्ति प्राप्त कर सकता है,

इसलिए उन्हें “संकट मोचन” भी कहा जाता है। उनका भक्ति और पूजा करने से व्यक्ति को आत्मिक शक्ति और साहस मिलता है। हनुमान जी को मानवता के सुरक्षा और सहारे का प्रतीक माना जाता है, और उनकी कृपा से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। उनकी उपासना से भक्तों को धार्मिक उन्नति और मानवीय सांस्कृतिक मूल्यों का पालन करने का साहस मिलता है।

हिन्दू धर्म के अनुसार, हनुमान जी की कृपा से व्यक्ति को जीवन में कष्टों का सामना नहीं करना पड़ता है। हनुमान जी की पूजा के दौरान, उन्हें सिंदूर भी चढ़ाया जाता है, जिसका महत्व अधिक है। इस प्रक्रिया के माध्यम से व्यक्ति को आत्मा की शुद्धि, सुख-शांति, और सुरक्षा का आशीर्वाद मिलता है। सिंदूर(vermillion) को हनुमान जी को अर्पित करने से उसके भक्त को आत्मविश्वास, और समृद्धि की प्राप्ति होती है। यह एक शक्तिशाली परंपरागत प्रथा है जो श्रद्धालुओं को आध्यात्मिक और मानवीय सहयोग में संबोधित करती है।

सिंदूर चढ़ाने से मिलते हैं ये लाभ

राम भक्त हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करने से वे प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों की इच्छाओं को पूरा करने का संकल्प करते हैं। मंगलवार के दिन सिंदूर चढ़ाने से विशेष लाभ मिलता है। साथ ही, इस साधना के प्रभाव से साधक के अटके हुए कार्य भी पुरे होते हैं। बजरंगबली जी को सिंदूर चढ़ाने से व्यक्ति को बल और बुद्धि की में विकाश होता है। और जीवन में सौभाग्य और सोर्य भी बढ़ता है।

Read Also:

हनुमान जी को सिंदूर कैसे चढ़ाएं

मंगलवार के दिन, सुबह मंदिर जाकर हनुमान जी के दाहिने कंधे पर सिंदूर का तिलक लगाना अच्छा होता है। आप इस कार्य को करते समय चाहे तो, चमेली के तेल में सिंदूर मिलाकर भी बजरंगबली जी को अर्पित कर सकते हैं। ऐसा करने से साधक को बजरंगबली जी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। ध्यान रहे कि हनुमान जी को नारंगी सिंदूर ही चढ़ाना चाहिए। इस आचरण से आपका मानसिक और आध्यात्मिक संबंध मजबूत हो सकता है और आपको शांति और सुख की प्राप्ति हो सकती है।

हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाने का मंत्र- ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय आध्यात्मिकाधिदैवीकाधिभौतिक तापत्रय निवारणाय रामदूताय स्वाहा

हनुमान जी को सिंदूर क्यों चढ़ता है

हनुमान जी को सिंदूर चढाने का प्रमुख कारण माता सीता से जुड़ा हुआ है. हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी हैं। हिंदू धर्म में, सिंदूर को सुहाग की पहचान मानी जाती है इस परंपरा का एक कथा है कि एक बार हनुमान जी ने माता सीता को मांग में सिंदूर लगाते हुए देखा और इसका कारण पूछा। सीता जी ने उत्तर दिया कि सिंदूर लगाने से पति की आयु बढ़ती है, इस पर हनुमान जी ने अपने सम्पूर्ण शरीर पर सिंदूर लगा लिया, ताकि प्रभु राम अमर हो जाएंगे। इसके बाद से हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करने की परंपरा चली आ रही है।

Aadhar Card Loan: इस मोबाइल ऐप से ले आधार कार्ड पर 50000 का लोन, तुरंत लोन के लिए ऐसे करे अप्लाई

Leave a Comment