Panchmukhi Hanuman Ji: पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति घर में रखनी चाहिए या नहीं

panchmukhi hanuman ji ki murti ghar mein rakhna chahiye ya nahin: हिन्दू शास्त्र में हनुमानजी को संकटमोचन कहा जाता है. पंचमुखी हनुमान जी के पाच मुख होते है जो सभी दिशाओ से आ रही बुरी ताकत का निवारण करते है इनकी पूजा करने से मनुष्य के सभी दुःख दूर हो जाते है. मंगलबार के दिन हनुमानजी की पूजा करना बहुत शुभ माना गया है. इसने कई रूपों की पूजा होती है. अगर आप भी घर में हनुमानजी की आराधना करते है तो हनुमान जी सभी संकटों को मनुष्य के जीवन से दूर कर देते है. वास्तु शास्त्र में पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति घर में रखनी चाहिए या नहीं इसके अपने अलग अलग कारण हो सकते है.

जीवन में हो रहे उतार चढाव को देखते हुए हनुमान जी के किस रूप में पूजा करना सही है. हनुमानजी ही ऐसे देव है जो मनुष्य के सभी संकट को नाश कर देते है

पंचमुखी हनुमान जी के बारे में-

पंचमुखी हनुमान जी हिन्दू धर्म में पूजे जाने वाले हनुमान जी का एक विशेष रूप हैं, जिनके पाँच मुख (वचन, आक्षेप, शृंगार, दोष और अभिचार) होते हैं और उनका पूजन भक्तों को सुरक्षा और रक्षा के लिए किया जाता है। पंचमुखी हनुमान का रूप विभिन्न पुराणों और तंत्रशास्त्रों में वर्णन है। भगवान पंचमुखी हनुमान जी का यह रूप शक्तिशाली माना जाता है।

पंचमुखी हनुमान के प्रमुख मुख निम्नलिखित होते हैं:

  1. पूर्व मुख (ईषान्यमुख): ईषान्यमुख को पूजते समय भक्त ईश्वर के प्रति श्रद्धा और भक्ति का अर्थात आदिदेवता के प्रति श्रद्धा करते हैं।
  2. पश्चिम मुख (पश्चिमामुख): पश्चिमामुख की पूजा से भक्त संसारिक सुख-शांति की प्राप्ति के लिए प्रार्थना करते हैं और अपने बन्धनों से मुक्ति की कामना करते हैं।
  3. उत्तर मुख (उत्तरामुख): उत्तरामुख की पूजा से भक्त सुख-शांति की प्राप्ति के लिए प्रार्थना करते हैं और अपने बन्धनों से मुक्ति की कामना करते हैं।
  4. दक्षिण मुख (अग्निमुख): अग्निमुख की पूजा से भक्त आत्मा की शुद्धि और मुक्ति की प्राप्ति के लिए प्रार्थना करते हैं।
  5. उड्डीयान मुख (वायुमुख): वायुमुख की पूजा से भक्त भौतिक और मानसिक स्वास्थ्य की रक्षा के लिए प्रार्थना करते हैं।

पंचमुखी हनुमान की पूजा का मुख्य उद्देश्य भक्तों को सुरक्षा, रक्षा, और सभी कठिनाईयों से मुक्ति प्रदान करना है। उन्हें वीर हनुमान भी कहा जाता है, और उनकी कृपा से भक्तों को आत्मविकास, भक्ति, और शक्ति मिलती है।

पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति घर में रखनी चाहिए या नहीं

आप चाहें तो अपने घर में पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति रख सकते हैं। इसके अलावा, आप अपने घर के मुख्य द्वार के पास भी पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति स्थापित कर सकते हैं। माना जाता है कि घर के मुख्य द्वार के पास पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति रखने से घर में नकारात्मक ऊर्जा नहीं आती और हम संकट से बचे रह सकते हैं।

पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति को धार्मिक दृष्टि से बहुत लोग पूजते हैं और मानते हैं इनकी उपासना से भक्त को सुरक्षा, शक्ति और आत्मा के सभी पहलुओं में सुधार होता है। पंचमुखी हनुमान जी का नाम उनके पाँच मुखों से आता है जो इस मूर्ति में होते हैं, और यह भक्तों को भयहीनता, बुद्धिमत्ता, ऐश्वर्य, ऐश्वर्य और मुक्ति की प्राप्ति में सहायक होते हैं।

आपके व्यक्तिगत आस्थाओं और परंपरागत अनुसरणों पर निर्भर करता है। कि आपकी आस्थाएं पंचमुखी हनुमान जी की पूजा को समर्थन करती हैं, तो आप उनकी मूर्ति को अपने घर में रख सकते हैं।

पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति का मुख किस दिशा में होना चाहिए

यदि आप अपने घर में पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति स्थापित कर रहे हैं, तो आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि मूर्ति को घर की दक्षिण दिशा में ही रखा जाए। यदि आपके घर या कमरे का द्वार दक्षिण दिशा में है, तो पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति को भी इसी दिशा में स्थापित करना उत्तम माना जाता है। कहा जाता है कि नेगेटिव ऊर्जा विशेषकर दक्षिण दिशा से ही आती है, और इसलिए पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति को दक्षिण दिशा में स्थापित करना शुभ होता है।

पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति लगाने से क्या होता है

पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति लगाना शुभ माना जाता है. पंचमुखी हनुमान की पूजा को भक्ति में विशेष महत्व दिया जाता है, और उनकी फोटो को लगाने के कई कारण हो सकते हैं

  • घर मे पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति लगाने से घर मे नेगेटिव एनर्जी नही आती है. इनकी कृपा से घर मे मौजूद सभी बुरी शक्तियों का नाश होता है.
  • घर मे पंचमुखी हनुमान जी की फ़ोटो या मूर्ति लगाने से घर मे हमेशा के लिए खुशहाली बनी रहती है. परिवार के सदस्य आपस मे प्रेम भाव बना रहता है.
  • पंचमुखी हनुमान की मूर्ति लगाने से परिवार के सदस्यों की तरक्की होती है. तथा रोग से मुक्ति मिलती है.
  • घर मे पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति लगाने से हमारे कुंडली के दोष से भी छुटकारा मिलता है.
  • पितृदोष या फिर शनि दोष से पीड़ित व्यक्ति को पंचमुखी हनुमान जी की पूजा करने से लाभ मिलता है.
  • कुछ लोग मानते हैं कि पंचमुखी हनुमान की पूजा और उनकी फोटो को घर में रखने से वास्तु दोषों को नष्ट किया जा सकता है और घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।
  • पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति या तस्वीर लगाने से किसी भी प्रकार का भय नहीं रहता.

पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति घर मे लगाने से कई फायदे होते है. किसी भी प्रकार की नेगेटिव एनर्जी या संकट से बचे रहने के लिए आपको अपने घर मे पंचमुखी हनुमान जी की फ़ोटो या मूर्ति अवश्य लगानी चाहिए.

Vastu Tips for Money: मां लक्ष्‍मी को प्रसन्‍न करने के तरीके, हर रोज कर लें बस ये 3 काम

एक ऐसा मंदिर जो श्री राम जी की सौतेली माँ ने मुहं दिखाई के रूप में दिया था