Munga Stone: मूंगा का आकार और पहचान और मूंगा को किस रत्न के साथ पहने

Munga ratan kiske sath pahne: मूँगा (Munga) भारतीय संस्कृति में विशेष महत्व रखने वाला एक प्राचीन रत्न है। हिंदी भाषा में इसे गोमेद (Gomed) भी कहते हैं। यह रत्न अपनी रंगत और चमकदारता के लिए विख्यात है मूँगा रत्न का वैज्ञानिक नाम ‘हेसोनाइट’ (Hessonite) है, और यह एक प्य्रोपे (Pyrope) गार्नेट का अनुभाग होता है आम तौर पर इसमें पीले, नारंगी या भूरे रंग की प्रकाशभ्रंशित किरणें दिखाई देती हैं

वैदिक ज्योतिष में इसे नौवें ग्रह राहू का रत्न माना जाता है। मूँगा के गहने को धारण करने से मान्यता है कि व्यक्ति को अनेक संकटों और दुर्भाग्य से बचाया जा सकता है। यह रत्न सौभाग्य के उपाय के रूप में भी जाना जाता है।

मूंगा रत्न पहनने से कई तरह के लाभ होते है जो आपके जीवन को सुखमय और आनदमय बना देते है मूँगा रत्न के लाभ (Munga Ratna Benefits)- राहु के शांति के लिए, सौभाग्य और धन के लिए, शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए, विदेश यात्रा के लिए आदि.

मूंगा किस आकार का होता है

Munga Stone Shape – मूंगा एक जैविक लकड़ी है, जिसे साफ़ सफाई बी पोलिश कर तराशा जाता है, फिर दो शक्लो में आकार दिया जाता है एक ओवल यानि कैप्सूल साइज़ (capsule shape moonga) और दूसरा तिकोना मूंगा (tikona moonga)दो ही आकर में मिलते है. या रत्न सुर्ख लाल और सिंदूरी कलर में मिलता है. यह 90 से 250 रूपये में आकर और वजन के हिसाब से मिलता है. बड़ा मूंगा बजनदार व मंहगा भी हो सकता है. मूंगा को आप ऑनलाइन(munga ratna price) या किसी भी रत्नों की दूकान से खरीद सकते है

आज कल मूंगा नकली भी आने लग गया है. जिसको पहचानना आप आदमी के लिए जरा मुश्किल ही रहता है. कई दूकानदार नकली मूंगा को असली मूंगा बता कर बेच देते है. कई ज्योतिषगण भी असली और नकली मूंगा में फर्क नहीं निकाल पाते है.

कैसे परखे असली नकली मूंगा- Asli Or Nakli Munge ratna ki pahchan

रत्नों को पहचानना बहुत मुश्किल हो गया है बाज़ार में आपको नकली मूंगा भी मिल जायेगा जिसे दुकानदार आपको असली बता कर बेच देते है. पुराने समय के लोग मूंगा को देखते ही पहचान लेते थे की ये असली मूंगा (asli or nakli munga ki pehchan)है या नकली. असली मूंगा कोन सा है नकली मूंगा कोन सा है ये आज के समय के लोग के लिए बहुत कठिन है. पर कुछ तरीके है जिनसे आप असली और नकली मूंगा की पहचान कर सकते है

  1. मुंगे की सही परख करने के लिए- मुंगे पर एक बूंद पानी की टपकाए, फिर देखे पानी रुकेगा नहीं. अगर पानी उस पर रक जाता है तो वो असली मूंगा नहीं होता है.
  2. magnifying glass से देखने पर मूंगा के ऊपर सफ़ेद बाल बराबर खड़ी रेखाए दिखती है, जबकि नकली मुंगे में नहीं दिखाई देती है.
  3. मूंगा चिकना व फिसलन युक्त होता है, नकली मूंगा गहरे रंग का व फिसलन वाला नहीं होता है.
  4. मूंगा खरीदते समय ध्यान रखने बाली बात यह है कि मूंगा सुला हुआ या कही से कटा नहीं होना चाहिए. न ही उस पर कोई काला दाग होना चाहिए.

मूंगा किसको पहनना चाहिए- munga kisko pehna chahiye

जब कोई व्यक्ति अपनी कुंडली से परामर्श करने के बाद मूंगा रत्न धारण (munga kisko pahnana chahie)करता है, तो ऐसा माना जाता है कि यह पहनने वाले को शुभ और अनुकूल परिणाम प्रदान करता है। ऐसी स्थिति में, रत्न व्यक्ति को अनावश्यक विवादों से बचने में मदद करता है, क्रोध को कम करता है और उनकी सक्रिय प्रकृति को बढ़ाता है। हालाँकि, यदि रत्न किसी व्यक्ति की कुंडली के लिए उपयुक्त नहीं है, तो इसे पहनने से विपरीत परिणाम हो सकते हैं।

Munga Koun Pahan Sakta Hai – मूंगा मंगल का रत्न है. मंगल साहस, बल, उर्जा का करक, बिस्फोटक सामग्री के व्यवसाय, पेट्रोल पम्प, गैस एजेंसी, पहलवानी, सेना, पुलिस, राजनीती, जमीन से संबधित कार्य आदि कार्यो का प्रतिनधित्व करने वाला रत्न है.

मूंगा के साथ कौन कौन सा रत्न पहन सकते हैं – Munga Ke Sath koun Koun Sa Ratna Pahan Sakte Hai

लोगों को सूचित किया जाना चाहिए कि उन्हें जीवन में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन यदि वे पारंपरिक रूप से रत्न ‘मुंगा’ (munga ratna) के साथ पहने जाने वाले रत्न पहनते हैं, तो उन्हें कोई नुकसान नहीं होगा और उन्हें किसी भी कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा। हालाँकि, यदि वे ऐसे रत्न को पहनते हैं जो ‘मूंगा’ के साथ पहनने के लिए नहीं हैं, तो उन्हें विभिन्न कठिनाइयों से जूझना पड़ सकता है, और इससे उनके जीवन में परेशानी हो सकती है।

मुंगे के साथ धारण करने वाले रत्न– मोती, पन्ना, माणिक्य, पुखराज, नीलम, गोमेद, अमेथिस्ट, लहसुनिया, या हीरा आदि.

मूंगे के साथ धारण नहीं किए जाने वाले रत्न– मोंतेरोसाइट, कोरल, नीलम (सफेद), हीरा (सफेद), मूंगे की मला, या मूंगे की अंगूठी.

मूंगा पहनने से पहले पत्रिका जरुर दिखाए. मंगल की दो राशी होती है एक मेष राशि है जो अग्नितत्व प्रधान है और दूसरी वृश्चिक राशि है जो जलतत्व की प्रधान राशी है. यह ग्रह यदि आपकी पत्रिका में एक राशी व्यय या षष्ठम भाब में हो या अष्टम भाव में तब आपको सोच समझ कर मूंगा पहने नहीं तो लाभ की जगह हानि हो सकती है. हानि से बचने के लिए munga ratna ke sath kaun ratna pahan sakte hai मूंगा के साथ कौन कौन सा रत्न पहन सकते हैं ये आपको जानना बहुत जरुरी है अगर आप मूंगा को धारण करने जा रहे है.

  1. मंगल का मित्र सूर्य है अतः माणिक्य के साथ भी मूंगा पहना जा सकता है.
  2. मूंगा रत्न पुखराज, मोती के साथ भी पहन सकते है.
  3. मूंगा-पुखराज, मूंगा-मोती, मूंगा-माणिक्य भी दो रत्नों की भी अगूठी या लोकेट धारण कर लाभ उठाया जा सकता है.
  4. मूंगा चांदी, तावा, सोना, धातु में पहन सकते है.
  5. मूंगा नीलम, हीरा, गोमेद, लह्शुनिया के साथ नहीं पहनना चाहिए.