Credit Card Kya Hota Hai: क्रेडिट कार्ड क्या होता है इसके क्या फायदे है

Credit Card Kya Hota Hai in hindi: आज के समय में क्रेडिट कार्ड का उपयोग ज्यादातर लोग करते है. तुरंत पैसो की जरूरत को पूरा करने के लिए क्रेडिट कार्ड बहुत उपयोगी है. क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन शौपिंग, बाज़ार से सामान लेना, या किसी को पेमेंट करना हो, कट बुकिंग, ऑर्डरिंग आदि आसानी से कर सकते है. इसके लिए आपको पैसो को साथ रखने की जरूरत नहीं है. अगर आप भी क्रेडिट कार्ड का उपयोग करना चाहते है.

तो सबसे पहले क्रेडिट कार्ड क्या होता है इसके क्या फायदे और नुकसान है इसकी जानकारी होना बहुत जरुरी है. अगर आपके पास पैसे नहीं है तो इस कार्ड से पैसो की जरुरत को पूरा कर सकते है. इस कार्ड से किया गया खचे को 40 से 45 दिन के अन्दर दे सकते है.

क्रेडिट कार्ड क्या होता है- Credit Card Kya Hota Hai

क्रेडिट कार्ड एक वित्तीय सस्थान द्वारा जारी किया जाने वाला कार्ड होता हैजिस पर कार्ड धारक का नाम के साथ 16 डिजिट का यूनिक नंबर होता है, इस कार्ड पर उपयोग करने की आखरी तारीख भी होती है. क्रेडिट कार्ड की आखरी तारीख निकल जाने के बाद बैंक आपके घर तक नया कार्ड भेज देती है. इसका प्रयोग करना बहुत ही आसान और सरल होता है. हर कार्ड का अपना एक पिन होता है. जो कार्ड धारक को पता होना चाहिए.

कार्ड के आगे छोटी की गोल्डन चिप होती है और पीछे एक ब्लैक कलर की लम्बी स्ट्रिप होती है कार्ड को इस इस स्ट्रिप के सहारे उपयोग में लाया जाता है. क्रेडिट कार्ड को स्वेप मशीन, wifi मशीन, और ऑनलाइन के लिए आसानी से प्रयोग में सकते है.

कार्ड से किया गया खर्चा एक तरह का लोन होता है. हर कार्ड की अपनी एक लिमिट होती है. जिसकी लिमिट आपकी सैलरी या व्यवसाय के आधार पर तय की जाती है।. कार्ड लिमिट से ज्यादा पैसा आप खर्च नहीं कर सकते है. इसमें पैसा आपके सेविंग खाते में नहीं रहता, बल्कि कार्ड में होता है।

चाहे आपका कार्ड किसी भी बैंक या वित्तीय संस्थान का हो, आप कार्ड के माध्यम से अपने खाते में पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपको अलग से शुल्क चुकाना पड़ता है।

क्रेडिट कार्ड का उपयोग

आधुनिक काल में क्रेडिट कार्ड का बड़ा प्रचलन है. खासकर युवा इसे अपने जीवन में एक महत्वपूर्ण हिस्सा मानते हैं। पहले कुछ साल पहले, क्रेडिट कार्ड इतना पॉपुलर नहीं था और लोग उस पर विश्वास नहीं करते थे। लेकिन समय के साथ, इंटरनेट के आने से सभी चीजें ऑनलाइन हो गईं और लोग घर बैठे शॉपिंग, टिकट बुकिंग, ऑर्डरिंग आदि करने लगे।

ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफ़ॉर्म ने भी क्रेडिट कार्ड के उपयोग पर छूट और रिवार्ड्स देना शुरू किया, जिससे लोगों का इसके प्रति विश्वास बढ़ा। इसके कारण अनेक बैंकिंग और नॉन-बैंकिंग कंपनियां भी अपने-अपने क्रेडिट कार्ड लाएं और इसे उपलब्ध कराने लगीं, जिससे धीरे-धीरे क्रेडिट कार्ड उपयोग का एक ट्रेंड बन गया है।

क्रेडिट कार्ड का मतलब आसानी से समझे

  1. यह एक तरह का उधारी खाता होता है. बैंक कुछ समय के लिए पैसो को उधार देती है और इसको समय पर वापस करना होता है.
  2. यह कार्ड एटीएम कार्ड की तरह दिखता है. ATM कार्ड से पैसे निकाल सकते है पर क्रेडिट कार्ड से नहीं निकाल सकते है.
  3. क्रेडिट कार्ड एक तरह का प्लास्टिक का कार्ड होता है इसको आप आसानी से किसी भी जगह ले जा सकते है ये पर्स या फिर किसी भी तरह के बैग में रखने में आसान है.
  4. Credit card और Debit card देखने में एक जेसे लगते है. पर ये दोनों अपनी जगह पर अलग अलग तरीके से काम करते है.
  5. Debit Card से आप खर्च करने के लिए अपने बैंक अकाउंट की saving money कर प्रयोग करते है, और दूसरी तरफ credit card से बैंकसे लिए गए उधार के पैसा को खर्च करते है.
  6. हर क्रेडिट कार्ड की एक लिमिट होती है। आप उस लिमिट के ऊपर क्रेडिट कार्ड के पैसे का उपयोग नहीं कर सकते है
  7. credit card उन लोगो को मिलता है जिनका सिविल स्कोर 750 से ऊपर होता है
  8. Credit Card से लिया गया पैसा एक तरह का पर्सनल लोन होता है जिसको समय पर चुकाना जरुरी है इसके लिए आपको कम से कम 45 दिन का समय मिलता है
  9. समय पा नहीं चुकाने पर आपका क्रेडिट स्कोर ख़राब होता है साथ में व्याज के साथ पैसा जमा करना होगा.
  10. अगर आप क्रेडिट कार्ड के पुरे पैसो को एक साथ नहीं दे सकते है तो इसको लोन में कन्वर्ट करा सकते है और हर महीने की क़िस्त बनवा सकते है.

क्रेडिट कार्ड के लिए सिबिल स्कोर कितना होना चाहिए

क्रेडिट स्कोर क्या है? इसे मुख्य रूप से क्रेडिट कार्ड स्कोर या सिविल स्कोर भी कहा जाता है। क्रेडिट स्कोर एक नंबर होता है जिससे यह पता चलता है कि किसे लोन देना सही है कि नहीं। क्रेडिट स्कोर(Credit Score) या सिबिल स्कोर(Cibil Score) में उपयोगकर्ताओं के पिछले 6 महीने के वित्तीय रिपोर्ट (Account Transaction) को देखा जाता है।

यदि उपयोगकर्ता ने पिछले लोन को समय पर चुका दिया है, तो उसका क्रेडिट स्कोर बहुत अच्छा होता है। इसके विपरीत, यदि एक उपयोगकर्ता ने लोन की राशि को समय पर नहीं चुकाया है, तो क्रेडिट स्कोर खराब होने से अगली बार लोन मिलने की संभावना कम हो जाती है। क्रेडिट स्कोर या सिबिल स्कोर कम से कम 750 से अधिक होने पर लोन आसानी से मिल जाता है।

किन लोगों को क्रेडिट कार्ड मिलता है (Credit Card Eligibility Criteria)

क्रेडिट कार्ड आपको मिल सकता है या नहीं ये आपके Cibil Score पर निर्भर होने के साथ और कई मापदंडो के हिसाब से दिया जाता है. अपना Credit Score chack करने के लिए आप किसी भी online Cibil Score check website पर जाकर चेक कर सकते है आपको कोई भी बैंक आपको तभी क्रेडिट कार्ड दे सकती है जब आपका बैंक में लेनदेन अच्छा होगा. Credit Card Eligibility क्या है? जाने-

आयु(Age)क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए.
आय(Income)10000 से 50000 के बीच होनी चाहिए.
क्रेडिट स्कोर(Credit Score)700 से अधिक होना जरुरी है.
रोजगार की स्थिति (Business Status)क्रेडिट कार्ड पात्रता के लिए एक स्थिर नौकरी या आय का नियमित स्रोत होना महत्वपूर्ण है।
क्रेडिट इतिहास (Credit History)पुराने Loan का पैसा सही समय पर दिया गया
मौजूदा ऋण (Loan Status)पुराने loan का status क्या है, ये bank का प्रमुख आधार है क्रेडिट कार्ड देने के लिए
नागरिकता और निवास (Nationality and Address)Credit Card Eligibility नागरिकता और निवास पर भी निर्भर करती है
बैंक के साथ संबंधबैंक के साथ लेनदेन के संबंध अच्छा होना जरुरी है.
Credit Card Eligibility status

क्रेडिट कार्ड के फायदे (Credit Card Ke Fayde In Hindi)

नगद पैसा की जरूरत नहीं : इस कार्ड से नगद पैसा ले जाने आवश्यकता नहीं होती है जिसके कारण लेनदेन आसान और परेशानी मुक्त हो जाते है।

ऑनलाइन शॉपिंग: क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन शॉपिंग को सुरक्षित और सुविधाजनक बनाते हैं, धोखाधड़ी से सुरक्षा प्रदान करते हैं और रिफंड को आसान बनाते हैं।

आपातकालीन के लिए: आपातकालीन स्थिति में क्रेडिट कार्ड बहुत उपयोगी है. अगर आपके पास पैसा नहीं है तो आप तुरंत इस कार्ड से किसी भी तरह का भुगतान कर सकते है.

व्यापारियों के लिए फायदेमंद: व्यापारियों के लिए credit card बहुत जरुरी है. ये आपके लेनदेन की प्रकिया को तेज कर देता है. अगर आपके पास पैसा नहीं है तो आप किसी भी व्यापारी को क्रेडिट कार्ड से तुरंत पेमेंट कर सकते है. भुगतान किये गए पैसो को वापस करने के लिए आपको 45 से 60 दिन तक मिल जाते है. इन दिनों के बीच आपको कोई व्याज नहीं देनी होती है. आप इस पैसो को अपने business में घुमा सकते है.

कैशबैक और पुरस्कार: कई क्रेडिट कार्ड आपके लेनदेन की प्रक्रिया के हिसाब से कैशबैक, रिवॉर्ड पॉइंट देते है. जो आगे होने वाले खर्चे में इसका उपयोग कर सकते है

यात्रा के लिए: कुछ क्रेडिट कार्ड यात्रा बीमा प्रदान करते हैं, जिससे हवाई अड्डे के लाउंज तक पहुंच और होटल बुकिंग पर छूट मिलती है। इससे यात्रा अधिक मनोरंजक और आरामदायक होती है।

बैलेंस ट्रांसफर: आप एक क्रेडिट कार्ड से दूसरे क्रेडिट कार्ड में बकाया शेष राशि को कम ब्याज दरों पर ट्रांसफर कर सकते हैं, जिससे आपको ब्याज भुगतान पर पैसे बचाने में मदद मिलेगी।

क्रेडिट स्कोर अच्छा करने में: सही तरीके से क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके आप अपने क्रेडिट स्कोर को सुधार सकते हैं, जिससे भविष्य में बेहतर लोन अवसरों और कम ब्याज दरों का लाभ उठा सकते हैं।

धोखाधड़ी वाले लेनदेन से सुरक्षा: क्रेडिट कार्ड आपको धोखाधड़ी से बचाने के लिए पिन, ओटीपी जैसी सुरक्षित सुविधाओं के साथ आते हैं।

किस्त योजनाएँ: कुछ क्रेडिट कार्ड बड़ी खरीदारी के लिए आकर्षक किस्त योजनाएँ प्रदान करते हैं, जिससे आप कई महीनों में भुगतान आसान किस्तों में कर सकते हैं।

ईएमआई(EMI): क्रेडिट कार्ड बड़ी खरीदारी को ईएमआई(EMI) में बदलने की अनुमति देते हैं, जिससे आपका पैसो का बोझ कम होता है। और आप हर महीने छोटी छोटी किस्तों में credit card का पेमेंट कर सकते है

देश-विदेश में करे भुगतान: देश से बाहर किसी को भी पेमेंट करने के लिए credit card का प्रयोग कर सकते है. विदेश में किसी भी प्रकार का ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए क्रेडिट कार्ड बहुत उपयोगी होता है.

क्रेडिट कार्ड के नुकसान (Credit Card Ke Nuksan In Hindi)

क्रेडिट कार्ड रखने से फायदा होता है तो नुकसान भी होता है जैसा आप जानते है की क्रेडिट कार्ड से लिया पैसा एक तरह का उधार होता है जिसको समय पा चुकाना भी पड़ता है. अगर सही समय पर नहीं चुकाते है तो आपको कई तरीके से नुकसान हो सकता है.

कार्ड ब्लाक हो सकता है– अगर आप हर महीने कार्ड का बकाया पैसा नहीं जमा करते है तो आपका कार्ड बंद हो सकता है और आप फिर कभी क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई नहीं कर सकते है.

अधिक व्याज पर चुकाना होगा पैसा– जब भी आप क्रेडिट कार्ड से किसी भी तरह का खर्च करते है तो आपको 45 से 60 दिन का समय मिलता है. अगर आप इसको सही समय पर वापस नहीं करते है तो आपको व्याज के साथ क्रेडिट कार्ड का पेमेंट करना पड़ता है ये आपके लिए अतिरिक्त खर्च के रूप में हो सकता है.

कर्जा बढ़ना– वित्तीय संकट के समय क्रेडिट कार्ड आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होता है. पर ये आपके लिए एक कर्जे के तरह है जो आपको वापश भी देना होता है. इसका ज्यादा उपयोग खर्चों को बढ़ा देता हैं, जिसको सही समय पर चुकाना मुश्किल हो जाता है. जिससे आप पर कर्जा बढता जाता है.

अनियंत्रित खर्चे– क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते समय लोग अपनी वित्तीय स्थिति से ज्यादा खर्च करने लगते है अनियंत्रित खर्चे होने से बाद में आपको पछताना पड़ता है। और लोगो से क्रेडिट कार्ड का पैसा देने के लिए लोगो से पैसा उधार तक मांगना पड़ सकता है.

सुरक्षा: क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते समय, आपको अपने कार्ड की संरक्षण और सुरक्षा का ध्यान रखना आवश्यक है।

क्रेडिट स्कोर पर प्रभाव: यदि आप क्रेडिट कार्ड का सही रूप से उपयोग नहीं करते हैं और बिल का भुगतान समय पर नहीं करते हैं, तो आपका क्रेडिट स्कोर प्रभावित हो सकता है। कम क्रेडिट स्कोर आपको भविष्य में क्रेडिट या कर्ज के लिए प्रतिबंधित कर सकता है।

Sbi E Mudra Loan: 5 मिनट में मिलेगा 50,000 का मुद्रा लोन, ऐसे करना होगा आवेदन

Instant Personal Loan – खराब क्रेडिट स्कोर और कोई इनकम प्रूफ नहीं, फिर भी मिलेगा कम ब्याज पर लाखों का लोन

Vastu Tips For Money: पैसो की तंगी से बचना है तो भूलकर भी न रखे पर्स में ये चीजें, वरना 2024 में हो जाएंगे कंगाल